hindi ki bindi

Listen Music & FM channels

तितली

hindi portal poem

पंख होते अगर तितली जैसे
दूर गगन में उड़ जाती मैं
हर उपवन में उड़कर जाती
फूलों का रस ले आती मैं
मम्मी पापा को मैं प्यारी
तितली से भी प्यारी हूँ
राजकुमारी से भी बढ़ कर
उनकी राजदुलारी हूँ